उतरी हो मेरे दिल मे एक हसीन चाँद सी, बस कोई देखे तो तुझे मेरी नजर से।

उतरी हो मेरे दिल मे एक हसीन चाँद सी, बस कोई देखे तो तुझे मेरी नजर से।

हर ख्वाइस पूरी हो हर दुआ कबूल हो, तुम्हारी चाँद से चेहरे पे हमेशा मुस्कान हो।

हर ख्वाइस पूरी हो हर दुआ कबूल हो, तुम्हारी चाँद से चेहरे पे हमेशा मुस्कान हो।

बिखरे हुए लम्हें अब हम ना समेट पाएंगे, चाँद चला गया आसमां से, सितारें कब तक ठहर पाएंगे।

बिखरे हुए लम्हें अब हम ना समेट पाएंगे, चाँद चला गया आसमां से, सितारें कब तक ठहर पाएंगे।

ओढ़ ली है चाँद ने आज बादलो की चादर, किसी के दिए अश्क़ छुपाने थे शायद।

ओढ़ ली है चाँद ने आज बादलो की चादर, किसी के दिए अश्क़ छुपाने थे शायद।

मत पूछ मेरे जागने की वजह ऐ चाँद, तेरा ही हमशक्ल है जो सोने नही देता।

मत पूछ मेरे जागने की वजह ऐ चाँद, तेरा ही हमशक्ल है जो सोने नही देता।

ये रातें भी मुझे अब उन रातों सी नहीं लगतीं, ना सितारे होते हैं ना पास मेरा चाँद होता है।

ये रातें भी मुझे अब उन रातों सी नहीं लगतीं, ना सितारे होते हैं ना पास मेरा चाँद होता है।

चाँद नहीं आया तो क्या हुआ धीरे धीरे उसका सुरूर आ रहा है तुम नहीं हो तो क्या हुआ तुम्हारी यादों से चेहरे पर नूर आ रहा है।

चाँद नहीं आया तो क्या हुआ धीरे धीरे उसका सुरूर आ रहा है तुम नहीं हो तो क्या हुआ तुम्हारी यादों से चेहरे पर नूर आ रहा है।

तलब सबको है चाँद निहारने की, जरुरते कहती है सुबह बनी रहे।

तलब सबको है चाँद निहारने की, जरुरते कहती है सुबह बनी रहे।

क्या करूँ मैं शिकायत भला इस चाँद की, इस चाँद से ज्यादा इंतज़ार तो, तुम करवाते हो।

क्या करूँ मैं शिकायत भला इस चाँद की, इस चाँद से ज्यादा इंतज़ार तो, तुम करवाते हो।

मैं बादल बन जाऊँ, तुम चाँद बन जाना, तुम्हारा नूर कोई चुरा ना ले, तुम मुझमें कहीं छुप जाना।

मैं बादल बन जाऊँ, तुम चाँद बन जाना, तुम्हारा नूर कोई चुरा ना ले, तुम मुझमें कहीं छुप जाना।

ये शांति भरी रात का सन्नाटा, और इस चाँद की चांदनी , सुकून देती है इस दिल को।

ये शांति भरी रात का सन्नाटा, और इस चाँद की चांदनी , सुकून देती है इस दिल को।

ख़ुशनशीबी है हमारी चाँद के साथ बात होती है, बदनसीबी है हमारी चाँद के बिना रात होती है।

ख़ुशनशीबी है हमारी चाँद के साथ बात होती है, बदनसीबी है हमारी चाँद के बिना रात होती है।

उसके चेहरे की चमक के सामने सादा लगा, आसंमा पे चाँद पूरा था मगर आधा लगा।

उसके चेहरे की चमक के सामने सादा लगा, आसंमा पे चाँद पूरा था मगर आधा लगा।

मुमकिन है दाग़ हो, चाँद बनने की ख़्वाहिश जो थी।

मुमकिन है दाग़ हो, चाँद बनने की ख़्वाहिश जो थी।

मत कर गुरूर तू ऐ चाँद अपनी इस खूबसूरती पर, देख,आज भी तू अकेला है इतनी ऊंचाईयो पर।

मत कर गुरूर तू ऐ चाँद अपनी इस खूबसूरती पर, देख,आज भी तू अकेला है इतनी ऊंचाईयो पर।

खुद को जला रखता है रौशन सूरज जहां सारा, लेकिन तब भी मोहब्बत लोग चाँद से करते हैं।

खुद को जला रखता है रौशन सूरज जहां सारा, लेकिन तब भी मोहब्बत लोग चाँद से करते हैं।

चाँद के साज़ पर रोशनी गीत गाते हुए आ रही है, तेरी ज़ुल्फ़ों से छनकर वो देखो चांदनी नूर बरसा रही है।

चाँद के साज़ पर रोशनी गीत गाते हुए आ रही है, तेरी ज़ुल्फ़ों से छनकर वो देखो चांदनी नूर बरसा रही है।

ऐ चाँद चला जा क्यो आया है मेरी चौखट पर, छोड गये वो शख्स जिसकी याद मे हम तुझे देखा करते थे।

ऐ चाँद चला जा क्यो आया है मेरी चौखट पर, छोड गये वो शख्स जिसकी याद मे हम तुझे देखा करते थे।

इतना खूबसूरत इत्तेफाक़ था, रात अमावस्या की थी और चाँद मेरे पास था।

इतना खूबसूरत इत्तेफाक़ था, रात अमावस्या की थी और चाँद मेरे पास था।

चाँद ने भी आज संगीत का दामन थामा है, यकीनन आज उसका भी दिल टूटा होगा।

चाँद ने भी आज संगीत का दामन थामा है, यकीनन आज उसका भी दिल टूटा होगा।

एक चाँद आसमान में है,जो दूर हो के भी दिखता है, एक ज़मीन पर,जो पास हो के भी हमसे रूठा हुआ है।।

एक चाँद आसमान में है,जो दूर हो के भी दिखता है, एक ज़मीन पर,जो पास हो के भी हमसे रूठा हुआ है।।

ना चाँद का ख्वाब है, ना सितारों की चाहत है, जिंदगी की उडान के लिये तो, खूला आसमान ही काफी है।

ना चाँद का ख्वाब है, ना सितारों की चाहत है, जिंदगी की उडान के लिये तो, खूला आसमान ही काफी है।

वो चाँद है तो क्या हुआ जनाब, हम भी दरिया की तरह उनके अक्स को जहन में उतार लेंगे।

वो चाँद है तो क्या हुआ जनाब, हम भी दरिया की तरह उनके अक्स को जहन में उतार लेंगे।

चाहते तो हम भी उसे एक ज़माने से थे, मगर चाँद कब इंसानों का हुआ है।

चाहते तो हम भी उसे एक ज़माने से थे, मगर चाँद कब इंसानों का हुआ है।

आसमाँ का वो चाँद भी खुद को ग्रहण लगा बैठा, लगता है मेरे ज़मीन के चाँद से वो भी नजरे मिला बैठा।

आसमाँ का वो चाँद भी खुद को ग्रहण लगा बैठा, लगता है मेरे ज़मीन के चाँद से वो भी नजरे मिला बैठा।

इस रात की आदत भी कुछ मेरे मेहबूब जैसी है, सुबह होते ही ये अपने चाँद को भूल जाता है।

इस रात की आदत भी कुछ मेरे मेहबूब जैसी है, सुबह होते ही ये अपने चाँद को भूल जाता है।

तुम भी बिलकुल उस चाँद की तरह हो, खूबसूरत भी हो और बहुत दूर भी हो।

तुम भी बिलकुल उस चाँद की तरह हो, खूबसूरत भी हो और बहुत दूर भी हो।

इश्क़ रातो से था, और हम दिन के हो बैठे, थोड़ी सी धूप के लिए, हम चाँद को खो बैठे।

इश्क़ रातो से था, और हम दिन के हो बैठे, थोड़ी सी धूप के लिए, हम चाँद को खो बैठे।

तस्वीर बना कर तेरी आस्मां पे टांग आया हूँ, और लोग पूछते हैं आज चाँद इतना बेदाग़ कैसे है।

तस्वीर बना कर तेरी आस्मां पे टांग आया हूँ, और लोग पूछते हैं आज चाँद इतना बेदाग़ कैसे है।

आज-कल ये शहर अंजान हो चला है, लगता है की चाँद को दाग हो चला है।

आज-कल ये शहर अंजान हो चला है, लगता है की चाँद को दाग हो चला है।

वो चाँद को देखती रही हम उसे देखते रहे, गली के सब लोग बस हमें देखते रहे।

वो चाँद को देखती रही हम उसे देखते रहे, गली के सब लोग बस हमें देखते रहे।

चाँद से बाते करता है, अपने चाँद की बाते करता है, ये पगला आशिक, रातभर चाँद पाने के तरीके सोचा करता है।

चाँद से बाते करता है, अपने चाँद की बाते करता है, ये पगला आशिक, रातभर चाँद पाने के तरीके सोचा करता है।

चाँद से बातें तुम्हारी हर रोज करते हैं, देखो दूर होकर भी हम कितने पास रहते हैं।

चाँद से बातें तुम्हारी हर रोज करते हैं, देखो दूर होकर भी हम कितने पास रहते हैं।

है ये कशिश कैसी, कैसे वो नूर साथ ले लूँ, एक रात के लिए चाँद, क्यूँ ना उधार ले लूँ।

है ये कशिश कैसी, कैसे वो नूर साथ ले लूँ, एक रात के लिए चाँद, क्यूँ ना उधार ले लूँ।

बड़ा मगरुर रहता है, खुद पे गुरुर रखता है, वो चाँद है जनाब, फलक से जमीन पर कहर बरसाता है।

बड़ा मगरुर रहता है, खुद पे गुरुर रखता है, वो चाँद है जनाब, फलक से जमीन पर कहर बरसाता है।

जैसे चाँद और तारों के एक दूसरे के पास होने का आभास होता है, बस कुछ वैसा ही किस्सा है हम दोनों का भी।

जैसे चाँद और तारों के एक दूसरे के पास होने का आभास होता है, बस कुछ वैसा ही किस्सा है हम दोनों का भी।

इश्क़ करना है तो रात की तरह करो, जिससे चाँद भी क़ुबूल और उसके दाग भी क़ुबूल।

इश्क़ करना है तो रात की तरह करो, जिससे चाँद भी क़ुबूल और उसके दाग भी क़ुबूल।

चाँद से ऐतबार करूँ, चाँद से इकरार करूँ, चाँद का इज़हार करूँ, चाँद से ही प्यार करूँ, एक चाँद ही तो हैं जिसका मैं इन्तजार करूँ।

चाँद से ऐतबार करूँ, चाँद से इकरार करूँ, चाँद का इज़हार करूँ, चाँद से ही प्यार करूँ, एक चाँद ही तो हैं जिसका मैं इन्तजार करूँ।

न तारे न चाँद न उनका आसमां चाहिए, मुझको तो बस मेरी मोहब्बत की सलामती चाहिए।

न तारे न चाँद न उनका आसमां चाहिए, मुझको तो बस मेरी मोहब्बत की सलामती चाहिए।

मैं अपने चाँद का चांद हूं, ख़ूबसूरत तो इतना नहीं पर बेदाग एक अहसास हूं।

मैं अपने चाँद का चांद हूं, ख़ूबसूरत तो इतना नहीं पर बेदाग एक अहसास हूं।

ऐ चाँद तू भी क्या खूब सितम ढाता है, मुझे उसका और उसे किसी और का अक्स दिखाता है।

ऐ चाँद तू भी क्या खूब सितम ढाता है, मुझे उसका और उसे किसी और का अक्स दिखाता है।

जो तु समझे तो, चमकते चाँद का सितारा हु मैं, जो ना समझे तो अवारा हु मैं।

जो तु समझे तो, चमकते चाँद का सितारा हु मैं, जो ना समझे तो अवारा हु मैं।

ये चाँद रोज आता है, और मेरी यादो की जख्मो को खुरेदकर चला जाता है।

ये चाँद रोज आता है, और मेरी यादो की जख्मो को खुरेदकर चला जाता है।

ऐ चाँद बड़े उदास लगते हो, कुछ खो गया है, या किसी का इंतजार कर रहे हो।

ऐ चाँद बड़े उदास लगते हो, कुछ खो गया है, या किसी का इंतजार कर रहे हो।

मोहब्बत ने मांग की थी सितारों की, हमने उन्हें आइने में चाँददिखा दिया।

मोहब्बत ने मांग की थी सितारों की, हमने उन्हें आइने में चाँददिखा दिया।

खोया हुआ है आजकल सितारों की महफिल में, मेरा चाँद मुझसे बेवफाई कर बैठा है।

खोया हुआ है आजकल सितारों की महफिल में, मेरा चाँद मुझसे बेवफाई कर बैठा है।

पलके झुकाके कुछ नज़ाकत के साथ यूं शरमाते हैं, जब वो प्यार से हमें अपना चाँद बुलाते हैं।

पलके झुकाके कुछ नज़ाकत के साथ यूं शरमाते हैं, जब वो प्यार से हमें अपना चाँद बुलाते हैं।

आसमाँ से चाँद लापता हैं, और मेरी आँखों से नींद।

आसमाँ से चाँद लापता हैं, और मेरी आँखों से नींद।

वो चाँद तो हमेशा से खामोश रहा है , शोर तो सितारों ने टूटकर मचाया है।

वो चाँद तो हमेशा से खामोश रहा है , शोर तो सितारों ने टूटकर मचाया है।

वो दिन के चन्द लम्हें तक तो ठीक से दे ना पाता है, और बातें चाँद तक साथ चलने की कहता जाता है।

वो दिन के चन्द लम्हें तक तो ठीक से दे ना पाता है, और बातें चाँद तक साथ चलने की कहता जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here