तेरी खूबसूरती मेरी नज़रों से पूछ, जिन्हें तेरे ख़याल भी हसीन लगा करते हैं।

तेरी खूबसूरती मेरी नज़रों से पूछ, जिन्हें तेरे ख़याल भी हसीन लगा करते हैं।

देख के तेरी ये तस्वीर हो गए हम खामोश, चाँद ऊपर से चीला के बोला, थम जा वरना हो जायेगा बेहोश।

देख के तेरी ये तस्वीर हो गए हम खामोश, चाँद ऊपर से चीला के बोला, थम जा वरना हो जायेगा बेहोश।

खूबसूरती तो सांवले चेहरे में ही होती है, गोरी तो तब भी तकलीफ देते थे और आज भी।

खूबसूरती तो सांवले चेहरे में ही होती है, गोरी तो तब भी तकलीफ देते थे और आज भी।

तेरी खूबसूरती पर ही नहीं , तेरी इन बेहतरीन अदाओं पर भी ये दिल फिदा है, माना आसमान में सितारे बहुत है, मगर तू मेरा चांद सबसे जुदा है।

तेरी खूबसूरती पर ही नहीं , तेरी इन बेहतरीन अदाओं पर भी ये दिल फिदा है, माना आसमान में सितारे बहुत है, मगर तू मेरा चांद सबसे जुदा है।

जो पल तेरे साथ गुज़ारे हैं उनको मैं गिनु कैसे, मैंने सुना है ख़ूबसूरती की कोई सीमा नहीं होती।

जो पल तेरे साथ गुज़ारे हैं उनको मैं गिनु कैसे, मैंने सुना है ख़ूबसूरती की कोई सीमा नहीं होती।

चेहरे से पर्दा हटा तो, खूबसूरती बेनकाब हो गई, उनसे मिली नजर तो, दिल बेकरार हो गया।

चेहरे से पर्दा हटा तो, खूबसूरती बेनकाब हो गई, उनसे मिली नजर तो, दिल बेकरार हो गया।

सोचता हु हर कागज पे तेरी तारीफ करु, फिर खयाल आया कहीँ पढ़ने वाला भी तेरा दीवाना ना हो जाए।

सोचता हु हर कागज पे तेरी तारीफ करु, फिर खयाल आया कहीँ पढ़ने वाला भी तेरा दीवाना ना हो जाए।

खूबसूरती चांद की फीकी है उनके नूर के आगे, अब कुछ भी भाता नही हमें उनके सूरूर के आगे।

खूबसूरती चांद की फीकी है उनके नूर के आगे, अब कुछ भी भाता नही हमें उनके सूरूर के आगे।

तेरी नज़रें बयाँ करती हैं मेरी खूबसूरती, अब मुझे आइनों की ज़रूरत न रही।

तेरी नज़रें बयाँ करती हैं मेरी खूबसूरती, अब मुझे आइनों की ज़रूरत न रही।

चेहरा उसका रूहानी है, लगता जैसे कोई कहानी है, ना बीते उन लफ्जो कि एक, प्यारी सी वो लड़की दीवानी हैं।

चेहरा उसका रूहानी है, लगता जैसे कोई कहानी है, ना बीते उन लफ्जो कि एक, प्यारी सी वो लड़की दीवानी हैं।

चांद को बहुत गुरूर था उसकी खूबसूरती पर, तोड़ दिया हमने तुम्हारी तस्वीर दिखा कर।

चांद को बहुत गुरूर था उसकी खूबसूरती पर, तोड़ दिया हमने तुम्हारी तस्वीर दिखा कर।

तेरे खुबसुरती पे तो लाखों मरते होंगे, लेकिन हम तेरी बाते सुनने के लिए तड़पते हैं।

तेरे खुबसुरती पे तो लाखों मरते होंगे, लेकिन हम तेरी बाते सुनने के लिए तड़पते हैं।

यूं तो दुनिया में देखने लायक बहुत कुछ है, पर पता नहीं क्यों ये आंखे सिर्फ तुम्हारी आंखों पर आकर ही रुक जाती है।

यूं तो दुनिया में देखने लायक बहुत कुछ है, पर पता नहीं क्यों ये आंखे सिर्फ तुम्हारी आंखों पर आकर ही रुक जाती है।

तेरी खूबसूरती की तारीफ में क्या लिखूं, कुछ खूबसूरत शब्दों की अभी तलाश है मुझे।

तेरी खूबसूरती की तारीफ में क्या लिखूं, कुछ खूबसूरत शब्दों की अभी तलाश है मुझे।

तुझे देखकर ऐसा लगा जैसे किसी जन्नत में आ गया, देख कर तेरी खूबसूरती वह चांद भी शरमा गया।

तुझे देखकर ऐसा लगा जैसे किसी जन्नत में आ गया, देख कर तेरी खूबसूरती वह चांद भी शरमा गया।

कौन देखता है किसी को अब सीरत की नज़र से, सिर्फ खूबसूरती को पूजते है, नए ज़माने के लोग।

कौन देखता है किसी को अब सीरत की नज़र से, सिर्फ खूबसूरती को पूजते है, नए ज़माने के लोग।

खूबसूरती तो समय के साथ खत्म हो जाती हैं, पर सच्चा प्यार ज़िन्दगी भर साथ रहता हैं।

खूबसूरती तो समय के साथ खत्म हो जाती हैं, पर सच्चा प्यार ज़िन्दगी भर साथ रहता हैं।

पहनावे की खूबसूरती तो पहनावे तक ही रहती है, मुखड़े पे खुसी हो तो जिंदगी के हर पल में ख़ुशी रहती है।

पहनावे की खूबसूरती तो पहनावे तक ही रहती है, मुखड़े पे खुसी हो तो जिंदगी के हर पल में ख़ुशी रहती है।

खूबसूरती में भी आजकल कमी ढूँढ़ते फिरते हैं, शायद किसी से इश्क का सौदा करने चले हैं।

खूबसूरती में भी आजकल कमी ढूँढ़ते फिरते हैं, शायद किसी से इश्क का सौदा करने चले हैं।

तुम्हारी सुन्दरता को देख मैं निःशब्द हूँ, तुम्हारी निःशब्दता ही तुम्हें सुंदर बनाती है।

तुम्हारी सुन्दरता को देख मैं निःशब्द हूँ, तुम्हारी निःशब्दता ही तुम्हें सुंदर बनाती है।

कभी चांद को देखु, कभी देखु चेहरा तेरा.. दोनों ही बहुत खूबसूरत है, अब तारीफ़ करूँ तो किसकी।

कभी चांद को देखु, कभी देखु चेहरा तेरा.. दोनों ही बहुत खूबसूरत है, अब तारीफ़ करूँ तो किसकी।

खूबसूरती न सूरत में है ना लिबास में है, निग़ाहें जिसे चाहे उसे हसीन बना दे।

खूबसूरती न सूरत में है ना लिबास में है, निग़ाहें जिसे चाहे उसे हसीन बना दे।

खूबसूरती अगर गोर रंग में होती, तो रात इतनी खूबसूरत नहीं होती।

खूबसूरती अगर गोर रंग में होती, तो रात इतनी खूबसूरत नहीं होती।

ये मेहताब चेहरा, ये मखमूर आँखें, कहीं होश मेरा न खो जाए, न देखूं तो न चैन मिले, देखूं तो मोहब्बत हो जाए।

ये मेहताब चेहरा, ये मखमूर आँखें, कहीं होश मेरा न खो जाए, न देखूं तो न चैन मिले, देखूं तो मोहब्बत हो जाए।

बात क्या करे उसकी खुबसूरती की, फुलो को भी उसे देखकर शर्माते देखा है मैने।

बात क्या करे उसकी खुबसूरती की, फुलो को भी उसे देखकर शर्माते देखा है मैने।

चेहरे की सुंदरता से ही कुछ नही होता जनाब, दिलों की खूबसूरती कही जयदा मायने रखती है।

चेहरे की सुंदरता से ही कुछ नही होता जनाब, दिलों की खूबसूरती कही जयदा मायने रखती है।

तुम्हारी सादग़ी ही है, तुम्हारी खूबसूरती, वरना हमारी ये आँखे, तुम्हे यूँ ना घूरती।

तुम्हारी सादग़ी ही है, तुम्हारी खूबसूरती, वरना हमारी ये आँखे, तुम्हे यूँ ना घूरती।

तू वो खुबसूरत अहसास है, जिसे हर समय पाने की तमन्ना रहती हैं।

तू वो खुबसूरत अहसास है, जिसे हर समय पाने की तमन्ना रहती हैं।

नज़रों की नज़ाकत के क्या कहने जनाब, उनका गुस्से से देखना भी शहद लगता है।

नज़रों की नज़ाकत के क्या कहने जनाब, उनका गुस्से से देखना भी शहद लगता है।

कैसे करुं बयाँ मै खुबसुरती उसकी, मेने तो उसे बिना देखे ही प्यार किया है।

कैसे करुं बयाँ मै खुबसुरती उसकी, मेने तो उसे बिना देखे ही प्यार किया है।

उनकी उल्फ़त अदाओं को बड़ी फुरसत से निहार रहे थे हम, मगर उन्हें फुरसत नहीं थी खूबसूरत-सी अपनी नजरें हमपर फेरने की।

उनकी उल्फ़त अदाओं को बड़ी फुरसत से निहार रहे थे हम, मगर उन्हें फुरसत नहीं थी खूबसूरत-सी अपनी नजरें हमपर फेरने की।

बड़ी खूबसूरती से, कल देखा उसने मुझे, बड़ी हैरानी से ,मैं आज भी उसे सोच रही हूं।

बड़ी खूबसूरती से, कल देखा उसने मुझे, बड़ी हैरानी से ,मैं आज भी उसे सोच रही हूं।

सादगी भी कमाल है उनकी, बिना सँवरें चमकना जानती है।

सादगी भी कमाल है उनकी, बिना सँवरें चमकना जानती है।

लफ्ज़ क्या बयां करेंगे खूबसूरती उनकी, जिनके ज़िक्र से ही खूबसूरती बयां हो जाए।

लफ्ज़ क्या बयां करेंगे खूबसूरती उनकी, जिनके ज़िक्र से ही खूबसूरती बयां हो जाए।

खूबसूरती अक्सर सांवलेपन में होती है, गोरे तो तब भी फरेबी थे और अब भी।

खूबसूरती अक्सर सांवलेपन में होती है, गोरे तो तब भी फरेबी थे और अब भी।

नवाज़ा है जिसे उस ख़ुदा ने अपनी अदाकारी से, वो हर शख्स अपने आप मे खूबसूरत तो है ही।

नवाज़ा है जिसे उस ख़ुदा ने अपनी अदाकारी से, वो हर शख्स अपने आप मे खूबसूरत तो है ही।

उसके इश्क़ की खूबसूरती कैसे बयां करूं जनाब, जब मुस्कुरा के देखता है, तो लगता हैं हर दुआ कुबूल हो गई।

उसके इश्क़ की खूबसूरती कैसे बयां करूं जनाब, जब मुस्कुरा के देखता है, तो लगता हैं हर दुआ कुबूल हो गई।

आईना तो बस एक पल के लिए तसल्ली दिलाता है, खूबसूरती का अंदाजा तो उस से आंखें मिलाकर ही आता है।

आईना तो बस एक पल के लिए तसल्ली दिलाता है, खूबसूरती का अंदाजा तो उस से आंखें मिलाकर ही आता है।

अपने चेहरे की खूबसूरती पे इतना गुमान मत कर, तेरे खूबसूरती से ज्यादा मेरे सादगी के चर्चे है बाजार में।

अपने चेहरे की खूबसूरती पे इतना गुमान मत कर, तेरे खूबसूरती से ज्यादा मेरे सादगी के चर्चे है बाजार में।

मोहब्बत के लिए खूबसूरत होने की कैसी शर्त, इश्क़ हो जाये तो बस सब कुछ खूबसूरत लगने लगता है।

मोहब्बत के लिए खूबसूरत होने की कैसी शर्त, इश्क़ हो जाये तो बस सब कुछ खूबसूरत लगने लगता है।

यकीनन चेहरे की खूबसूरती आंखों को सुकून देती है, लेकिन…. रूह को सुकून तो दिल की खूबसूरती ही देती है।

यकीनन चेहरे की खूबसूरती आंखों को सुकून देती है, लेकिन…. रूह को सुकून तो दिल की खूबसूरती ही देती है।

कभी कभी दाग भी अच्छे होते है, युही चाँद खुबसुरती का मिसाल नहीं है।

कभी कभी दाग भी अच्छे होते है, युही चाँद खुबसुरती का मिसाल नहीं है।

उनकी खुबसुरती के बारे में मत पूछिए जनाब, माथे पर लगी वो छोटी सी बिंदी भी कमाल लगती है।

उनकी खुबसुरती के बारे में मत पूछिए जनाब, माथे पर लगी वो छोटी सी बिंदी भी कमाल लगती है।

सूरत मे क्या रखा है जालिम, एक दिन सब ढल जाएगी, दिल की खूबसूरती देख, तेरी जिंदगी सवार जायगी।

सूरत मे क्या रखा है जालिम, एक दिन सब ढल जाएगी, दिल की खूबसूरती देख, तेरी जिंदगी सवार जायगी।

इतनी अदाएं कम थीं, जो एक और शामिल है, कातिल सूरत पहले ही थी, अब तो तेरी नजर भी कातिल है।

इतनी अदाएं कम थीं, जो एक और शामिल है, कातिल सूरत पहले ही थी, अब तो तेरी नजर भी कातिल है।

आपका शर्मना हमे बड़ा भाता है, और आपका एक झलक देकर चले जाना, हमे तड़पता है।

आपका शर्मना हमे बड़ा भाता है, और आपका एक झलक देकर चले जाना, हमे तड़पता है।

आज भी एक आरजू जगी है, वो खुबसूरती को देखने की इच्छा उठी है, बेमिसाल है जो हर स्वरूप मे, उसे हमे अपनी ज़िंदगी बनानी है।

आज भी एक आरजू जगी है, वो खुबसूरती को देखने की इच्छा उठी है, बेमिसाल है जो हर स्वरूप मे, उसे हमे अपनी ज़िंदगी बनानी है।

ख़ूबसूरती तो हर चीज में होती है जनाब, बस उसे देखने का नज़रिया बदल जाता हैं।

ख़ूबसूरती तो हर चीज में होती है जनाब, बस उसे देखने का नज़रिया बदल जाता हैं।

बेहिसाब उसकी खूबसूरती को गरूर का नाम मत देना, मगरुरी थोडी़ जरूरी है जमाने से,इसे उसका ऐब मत समझना।

बेहिसाब उसकी खूबसूरती को गरूर का नाम मत देना, मगरुरी थोडी़ जरूरी है जमाने से,इसे उसका ऐब मत समझना।

अगर खूबसूरती वही है जिसे देख नज़रे ठहर जाए, तो कह दो अपनी नज़रो से, हमारा दीदार कर जाए।

अगर खूबसूरती वही है जिसे देख नज़रे ठहर जाए, तो कह दो अपनी नज़रो से, हमारा दीदार कर जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here