आप चाहो भी तो भी ज़िन्दगी के खेल में आउट नहीं हो सकते,  तब तक जब तक कि आप खुद मैदान को छोड़ कर भाग नहीं जाते! दुनिया की कोई ताकत आपको हरा नहीं सकती अगर आप पिच पर डंटे रहो।
-संदीप माहेश्वरी

आप चाहो भी तो भी ज़िन्दगी के खेल में आउट नहीं हो सकते, तब तक जब तक कि आप खुद मैदान को छोड़ कर भाग नहीं जाते! दुनिया की कोई ताकत आपको हरा नहीं सकती अगर आप पिच पर डंटे रहो। -संदीप माहेश्वरी

जैसे ही आप किसी चीज की बुराई कर रहे हो या किसी से जेलसी कर रहे हो या किसी को नीचे गिरा रहे हो, अपने आप को बेटर फील करने के लिए तो आप और नीचे गिर जाते हो।
-संदीप माहेश्वरी

जैसे ही आप किसी चीज की बुराई कर रहे हो या किसी से जेलसी कर रहे हो या किसी को नीचे गिरा रहे हो, अपने आप को बेटर फील करने के लिए तो आप और नीचे गिर जाते हो। -संदीप माहेश्वरी

या तो अपने दिमाग को कण्ट्रोल करो, नहीं तो यह तुम्हे कंट्रोल करेगा।
-संदीप माहेश्वरी

या तो अपने दिमाग को कण्ट्रोल करो, नहीं तो यह तुम्हे कंट्रोल करेगा। -संदीप माहेश्वरी

हर एक के अन्दर कोई न कोई शक्ति है, जो इस पूरी दुनिया में किसी में नहीं है, बस तुम्हे उस शक्ति को जानना है।
-संदीप माहेश्वरी

हर एक के अन्दर कोई न कोई शक्ति है, जो इस पूरी दुनिया में किसी में नहीं है, बस तुम्हे उस शक्ति को जानना है। -संदीप माहेश्वरी

90% से ज्यादा लोग जीवन में इसलिये फैल नहीं होते कि वो बहुत बड़ा सोचते है और उसे प्राप्त नहीं कर पाते, वो इसलिये फैल होते है, क्योंकि वो बहुत छोटा सोचते है और उसे प्राप्त कर लेते है और वो वहीं पर अटक जाते है, वहीं पर रुक जाते है।

90% से ज्यादा लोग जीवन में इसलिये फैल नहीं होते कि वो बहुत बड़ा सोचते है और उसे प्राप्त नहीं कर पाते, वो इसलिये फैल होते है, क्योंकि वो बहुत छोटा सोचते है और उसे प्राप्त कर लेते है और वो वहीं पर अटक जाते है, वहीं पर रुक जाते है।

इस दुनिया में डिजायर से बड़ी निर्माणकारी पॉवर और कोई नहीं है।
-संदीप माहेश्वरी

इस दुनिया में डिजायर से बड़ी निर्माणकारी पॉवर और कोई नहीं है। -संदीप माहेश्वरी

हमेशा कुछ न कुछ सिखने के रास्ते पर अगर आप चलोगे, तो चलते-चलते आपको पता भी नहीं लगेगा, और सच बता रहा हु पता भी नहीं लगेगा कि कब आप लोग नार्मल इन्सान से सुपर इन्सान बन जाओगे।

हमेशा कुछ न कुछ सिखने के रास्ते पर अगर आप चलोगे, तो चलते-चलते आपको पता भी नहीं लगेगा, और सच बता रहा हु पता भी नहीं लगेगा कि कब आप लोग नार्मल इन्सान से सुपर इन्सान बन जाओगे।

अच्छा बोलो , अच्छा सुनो , अच्छा देखो।
-संदीप माहेश्वरी

अच्छा बोलो , अच्छा सुनो , अच्छा देखो। -संदीप माहेश्वरी

केवल एक बड़ा कारण ढूंढिए उसको करने का जिसको आप करना चाहते हो वही काफी है।
-संदीप माहेश्वरी

केवल एक बड़ा कारण ढूंढिए उसको करने का जिसको आप करना चाहते हो वही काफी है। -संदीप माहेश्वरी

दो तरह की चॉइस है आपके पास में,  कि मुझे जिंदगी को काटना है या मुझे जिंदगी को जीना है।
-संदीप माहेश्वरी

दो तरह की चॉइस है आपके पास में, कि मुझे जिंदगी को काटना है या मुझे जिंदगी को जीना है। -संदीप माहेश्वरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here