जिसको पता है कि जो काम मैं कर रहा हूँ वो क्यों कर रहा हूँ, जिसको यह पता है कि क्या कर रहा हूँ, जिसको यह पता है कि कैसे करना तो उसको कोई क्या हिलाएगा।
-संदीप माहेश्वरी

जिसको पता है कि जो काम मैं कर रहा हूँ वो क्यों कर रहा हूँ, जिसको यह पता है कि क्या कर रहा हूँ, जिसको यह पता है कि कैसे करना तो उसको कोई क्या हिलाएगा। -संदीप माहेश्वरी

सच कहू तो मुझे कभी भी डर नहीं लगता क्योंकि मैं यह मानता हूँ की मैं महान हूँ।
-संदीप माहेश्वरी

सच कहू तो मुझे कभी भी डर नहीं लगता क्योंकि मैं यह मानता हूँ की मैं महान हूँ। -संदीप माहेश्वरी

आप बिज़नस कर रहे हो, आप खुद ही एक्साइटेड नहीं हो अन्दर से, तो दुसरे जो आपके साथ में जुड़े है आपके टीम मेम्बर कैसे एक्साइटेड हो सकते है।
-संदीप माहेश्वरी

आप बिज़नस कर रहे हो, आप खुद ही एक्साइटेड नहीं हो अन्दर से, तो दुसरे जो आपके साथ में जुड़े है आपके टीम मेम्बर कैसे एक्साइटेड हो सकते है। -संदीप माहेश्वरी

आज मैं जो कुछ हूँ अपने फेलियर्स की वजह से हूँ।
-संदीप माहेश्वरी

आज मैं जो कुछ हूँ अपने फेलियर्स की वजह से हूँ। -संदीप माहेश्वरी

एक बात हमेशा अपने आप से कहनी है कि मैं इस धरती पर सबसे महान आदमी हूँ।
-संदीप माहेश्वरी

एक बात हमेशा अपने आप से कहनी है कि मैं इस धरती पर सबसे महान आदमी हूँ। -संदीप माहेश्वरी

याद रखिये हर बड़े की शुरुआत छोटे से होती है।
-संदीप माहेश्वरी

याद रखिये हर बड़े की शुरुआत छोटे से होती है। -संदीप माहेश्वरी

कभी भी आपकी पीठ के पीछे आपकी बात हो रही है तो आप घबराईये मत, क्यूकी बात सिर्फ उन्ही की होती है जिनमे कोई बात होती है।
-संदीप माहेश्वरी

कभी भी आपकी पीठ के पीछे आपकी बात हो रही है तो आप घबराईये मत, क्यूकी बात सिर्फ उन्ही की होती है जिनमे कोई बात होती है। -संदीप माहेश्वरी

जो भी मन में आए उसे खुलकर पूरे मन से करो क्यूकी एक बार वक्त गुजर गया तो वो वक्त फिर दोबारा नही आने वाला है।
-संदीप माहेश्वरी

जो भी मन में आए उसे खुलकर पूरे मन से करो क्यूकी एक बार वक्त गुजर गया तो वो वक्त फिर दोबारा नही आने वाला है। -संदीप माहेश्वरी

मैं सिर्फ गुड लक को मानता हूँ, बेड लक नाम की इस दुनिया में कोई चीज नहीं, क्योंकि जो होता है अच्छे के लिए होता है। इसका मतलब हमारे साथ कुछ बुरा भी हो रहा है तो बुरा लग रहा है बुरा है नहीं, आज बुरा लग रहा है आगे आने वाले टाइम पे पता चलता है कि वो भी अच्छे के लिए हुआ है।

मैं सिर्फ गुड लक को मानता हूँ, बेड लक नाम की इस दुनिया में कोई चीज नहीं, क्योंकि जो होता है अच्छे के लिए होता है। इसका मतलब हमारे साथ कुछ बुरा भी हो रहा है तो बुरा लग रहा है बुरा है नहीं, आज बुरा लग रहा है आगे आने वाले टाइम पे पता चलता है कि वो भी अच्छे के लिए हुआ है।

मैं यह नहीं कहता कि एजुकेशन इम्पोर्टेन्ट नहीं है, एजुकेशन बहुत इम्पोर्टेन्ट है, उसके बिना आप इस दुनिया में नही चल सकते, दुनिया के अन्दर, मतलब कि जिंदगी को काटने के लिए एजुकेशन इम्पोर्टेन्ट है लेकिन जिंदगी जीने से इसका दूर-दूर तक कोई कनेक्शन नहीं है।

मैं यह नहीं कहता कि एजुकेशन इम्पोर्टेन्ट नहीं है, एजुकेशन बहुत इम्पोर्टेन्ट है, उसके बिना आप इस दुनिया में नही चल सकते, दुनिया के अन्दर, मतलब कि जिंदगी को काटने के लिए एजुकेशन इम्पोर्टेन्ट है लेकिन जिंदगी जीने से इसका दूर-दूर तक कोई कनेक्शन नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here