sad_love_status34

जब नहीं तुझको यक़ीं अपना समझता क्यूँ है,

रिश्ता रखता है तो फिर रोज़ परखता क्यूँ है।

sad_love_status60

मेरी मंजिल उसे पाना नहीं, बस एक दुआ है रब से कि उसे कभी रुलाना नहीं।

sad_love_status35

गिरता है अपने आप पर दीवार की तरह,
अंदर से टूटता है जब पत्थर का आदमी।

sad_love_status29

तेरे मिलने की आस न होती 
तो ज़िंदगी आज यूँ उदास न होती

मिल जाती कभी तस्वीर जो तेरी 
तो हमको आज तेरी तलाश न होती।

sad_love_status47

#गम ने हंसने ना दिया,
जमाने ने रोने ना दिया,
#नींद आई तो तेरी #याद ने, सोने न दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here