Indian Army Shayari/Status in Hindi ॥ इंडियन आर्मी शायरी

हर किसी को नहीं चढ़ता फौजी बनने का नशा, जिगर चाहिए जवानी बर्बाद करने के लिए।

हर किसी को नहीं चढ़ता फौजी बनने का नशा, जिगर चाहिए जवानी बर्बाद करने के लिए।

जज्बे ऐसे कि वतन पे कुर्बान है, आसमां गवाह है शरहद पे खड़े वो हिन्द के जवान है।

जज्बे ऐसे कि वतन पे कुर्बान है, आसमां गवाह है शरहद पे खड़े वो हिन्द के जवान है।

एक फौजी कितना भी बूढ़ा हो जाये, कहलाता जवान ही है।

एक फौजी कितना भी बूढ़ा हो जाये, कहलाता जवान ही है।

मैं आखिरी सांस तक तुझसे प्यार जताऊंगा मेरी भारत माँ मैं एकदिन तेरी माटी में समा जाऊँगा।

मैं आखिरी सांस तक तुझसे प्यार जताऊंगा मेरी भारत माँ मैं एकदिन तेरी माटी में समा जाऊँगा।

हम महफूज रहे त्यौहारों में, वे सरहद पर गोली झेलते है, जरा याद उन्हे भी कर लो जो खून से होली खेलते है।

हम महफूज रहे त्यौहारों में, वे सरहद पर गोली झेलते है, जरा याद उन्हे भी कर लो जो खून से होली खेलते है।

तन की मोहब्बत में, खुद को तपाये बैठे हैं, मरेंगे वतन के लिए, शर्त मौत से लगाये बैठे हैं।

तन की मोहब्बत में, खुद को तपाये बैठे हैं, मरेंगे वतन के लिए, शर्त मौत से लगाये बैठे हैं।

सरहद पर एक फौजी अपना वादा निभा रहा हैं, वो धरती माँ की मोहब्बत का कर्ज चुका रहा हैं।

सरहद पर एक फौजी अपना वादा निभा रहा हैं, वो धरती माँ की मोहब्बत का कर्ज चुका रहा हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.