1
2
3
4
5
6
7
8
इस से पहले होली की शाम हो जाए, बधाइयों का सिलसिला आम हो जाए, भीड़ मे शामिल हमारा नाम हो जाए क्यू ना होली की अभी से राम राम हो जाए। हैप्पी होली!

इस से पहले होली की शाम हो जाए, बधाइयों का सिलसिला आम हो जाए, भीड़ मे शामिल हमारा नाम हो जाए क्यू ना होली की अभी से राम राम हो जाए। हैप्पी होली!

तुम भी झूमे मस्ती में, हम भी झूमे मस्ती में, शोर हुआ सारी बस्ती में, झूमे सब होली की मस्ती में। हैप्पी होली!

तुम भी झूमे मस्ती में, हम भी झूमे मस्ती में, शोर हुआ सारी बस्ती में, झूमे सब होली की मस्ती में। हैप्पी होली!

ऐसे मनाना होली का त्योहार, पिचकारी से बरसे सिर्फ प्यार, ये है मौका अपनों से गले मिलाने का, तो गुलाल और रंग लेकर हो जाओ तैयार।

ऐसे मनाना होली का त्योहार, पिचकारी से बरसे सिर्फ प्यार, ये है मौका अपनों से गले मिलाने का, तो गुलाल और रंग लेकर हो जाओ तैयार।

खा के गुजिया, पी के भंग, लगा के थोड़ा थोड़ा सा रंग, 
बजा के ढोलक और मृदंग, खेलें होली हम तेरे संग!

खा के गुजिया, पी के भंग, लगा के थोड़ा थोड़ा सा रंग, बजा के ढोलक और मृदंग, खेलें होली हम तेरे संग!

वो गुलाल की ठंडक, वो शाम की रोनक, वो लोगों का गाना, 
वो गलियों का चमकना, वो दिन में मस्ती, वो रंगों की धूम, 
होली आ गई है, होली है!

वो गुलाल की ठंडक, वो शाम की रोनक, वो लोगों का गाना, वो गलियों का चमकना, वो दिन में मस्ती, वो रंगों की धूम, होली आ गई है, होली है!

सतरंग रंग लिए आए होली, गॉव शहर में छाई होली, 
रंगों में डुबे साथी सजनी, होली है और धूम मची है, भांग की खुमारी छाई है, 
तन में मस्ती मन में मस्ती, होली की मस्ती सब और छाई है।

सतरंग रंग लिए आए होली, गॉव शहर में छाई होली, रंगों में डुबे साथी सजनी, होली है और धूम मची है, भांग की खुमारी छाई है, तन में मस्ती मन में मस्ती, होली की मस्ती सब और छाई है।

शेर कभी छुपकर शिकार नहीं करते, बुजदिल कभी खुलकर वार नहीं करते, और हम वो हैं जो हैप्पी होली कहने के लिए, 29 मार्च का इंतज़ार नहीं करते। हैप्पी होली!

शेर कभी छुपकर शिकार नहीं करते, बुजदिल कभी खुलकर वार नहीं करते, और हम वो हैं जो हैप्पी होली कहने के लिए, 29 मार्च का इंतज़ार नहीं करते। हैप्पी होली!

वो भी क्या दिन थे, जब हम साथ में होली मनाया करते थे, तुम अपना गुलाबी चेहरा आगे करते थे, और हम उस पर हरा रंग लगाया करते थे। हैप्पी होली!

वो भी क्या दिन थे, जब हम साथ में होली मनाया करते थे, तुम अपना गुलाबी चेहरा आगे करते थे, और हम उस पर हरा रंग लगाया करते थे। हैप्पी होली!

लाल, गुलाबी, नीला, पिला हाथों में लिया समेट, होली के दिन रंगेंगे सजनी कर के मीठी भेंट।

लाल, गुलाबी, नीला, पिला हाथों में लिया समेट, होली के दिन रंगेंगे सजनी कर के मीठी भेंट।

रंग बरसे भीगे चुनर वाली, रंग बरसे ओ रंग बरसे, भीगे चुनर वाली रंग बरसे, 
अरे रंग बरसे भीगे चुनर वाली रे! अब घर जाओ नहीं तो जुकाम लग जायेगा। हैप्पी होली!

रंग बरसे भीगे चुनर वाली, रंग बरसे ओ रंग बरसे, भीगे चुनर वाली रंग बरसे, अरे रंग बरसे भीगे चुनर वाली रे! अब घर जाओ नहीं तो जुकाम लग जायेगा। हैप्पी होली!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here