good_night129

चमकते चाँद को नींद आने लगी, आपकी खुशी से दुनिया जगमगाने लगी,

देख के आपको हर कली गुनगुनाने लगी, अब तो फेकते-फेकते मुझे भी नींद आने लगी।

good_night61

दुनिया में रहकर सपनों में खो जाओ, 

किसी को अपना बना लो या किसी के हो जाओ।

good_night31

देखो फिर रात आ गयी, गुड नाईट कहने की बात याद आ गयी, 

हम बैठे थे सितारों की पनाह में… चाँद को देखा तो आपकी याद आ गयी।

good_night12

रात की दिलगी, चाँद की आशिक़ी,
तारो की मदहोशी बुला रही हैं, आज  आपको ख़्वाबों में।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here