Aansu Shayari | आँसू शायरी

पगली तेरी मोहब्बत ने मेरा यह हाल कर दिया है! मैँ नही रोता लोग मुझे देख के रोते है!

पगली तेरी मोहब्बत ने मेरा यह हाल कर दिया है! मैँ नही रोता लोग मुझे देख के रोते है!

डूबी हैं मेरी उँगलियाँ मेरे ही खून में, ये काँच के टुकड़ों पर भरोसे की सजा है।

डूबी हैं मेरी उँगलियाँ मेरे ही खून में, ये काँच के टुकड़ों पर भरोसे की सजा है।

कदर करलो उनकी जो तुमसे बिना मतलब की चाहत करते है, दुनिया में ख्याल रखने वाले कम और तकलीफ देने वाले ज्यादा होते है।

कदर करलो उनकी जो तुमसे बिना मतलब की चाहत करते है, दुनिया में ख्याल रखने वाले कम और तकलीफ देने वाले ज्यादा होते है।

आँखों में आंसुओ को… उभरने ना दिया, मिट्टी के मोतियों को बिखरने ना दिया, जिन राहों पर पड़े थे तेरे कदमो के निशान, उन राहों से किसी को गुजरने ना दिया।

आँखों में आंसुओ को… उभरने ना दिया, मिट्टी के मोतियों को बिखरने ना दिया, जिन राहों पर पड़े थे तेरे कदमो के निशान, उन राहों से किसी को गुजरने ना दिया।

ख़ूब हँस लो की मेरे हाल पे सब हँसते हैं,मेरी आँखों से किसी ने भी न आँसू पोंछे, मुझ को हमदर्द निगाहों की ज़रूरत भी नहीं!

ख़ूब हँस लो की मेरे हाल पे सब हँसते हैं,मेरी आँखों से किसी ने भी न आँसू पोंछे, मुझ को हमदर्द निगाहों की ज़रूरत भी नहीं!

ये तड़प, ये आंसू मेरे रातों के साथी है बस तेरी यादें मेरे जीने के लिए काफी है।

ये तड़प, ये आंसू मेरे रातों के साथी है बस तेरी यादें मेरे जीने के लिए काफी है।

सुहाना मौसम था हवा में नमी थी आँसुओ की बहती नदी अभी अभी थमी थी, मिलने की चाहत बहुत थी उनसे पर उनके पास वक़्त और हमारे पास सांसो की कमी थी।

सुहाना मौसम था हवा में नमी थी आँसुओ की बहती नदी अभी अभी थमी थी, मिलने की चाहत बहुत थी उनसे पर उनके पास वक़्त और हमारे पास सांसो की कमी थी।

दिल तो पहले होता था सीने में, अब तो दर्द लिए फिरते है।

दिल तो पहले होता था सीने में, अब तो दर्द लिए फिरते है।

कभी रो के मुस्कुराए, कभी मुस्कुरा के रोए, जब भी तेरी याद आई तुझे भुला के रोए, एक तेरा ही तो नाम था जिसे हज़ार बार लिखा, जितना लिख के खुश हुए उस से ज़यादा मिटा के रोए।

कभी रो के मुस्कुराए, कभी मुस्कुरा के रोए, जब भी तेरी याद आई तुझे भुला के रोए, एक तेरा ही तो नाम था जिसे हज़ार बार लिखा, जितना लिख के खुश हुए उस से ज़यादा मिटा के रोए।

किसी को बताने से मेरे अश्क़ रुक ना पायेंगे, मिट जायेगी जिंदगी मगर ग़म धुल न पायेंगे।

किसी को बताने से मेरे अश्क़ रुक ना पायेंगे, मिट जायेगी जिंदगी मगर ग़म धुल न पायेंगे।

अस्के लहू मेरी आंखो से नहीं दिल से बहती है, क्योंकि हमने तुम्हे अपनी आंखो में नहीं दिल में बसाया था।

अस्के लहू मेरी आंखो से नहीं दिल से बहती है, क्योंकि हमने तुम्हे अपनी आंखो में नहीं दिल में बसाया था।

मुझको ऐसा दर्द मिला जिसकी दवा नहीं, फिर भी खुश हूँ मुझे उस से कोई गिला नहीं, और कितने आंसू बहाऊँ मैं उसके लिए, जिसको खुदा ने मेरे नसीब में लिखा नहीं।

मुझको ऐसा दर्द मिला जिसकी दवा नहीं, फिर भी खुश हूँ मुझे उस से कोई गिला नहीं, और कितने आंसू बहाऊँ मैं उसके लिए, जिसको खुदा ने मेरे नसीब में लिखा नहीं।

आँसू को कभी ओस का क़तरा न समझना, ऐसा तुम्हें चाहत का समुंदर न मिलेगा।

आँसू को कभी ओस का क़तरा न समझना, ऐसा तुम्हें चाहत का समुंदर न मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.