इश्क़ के चाँद को अपनी पनाह में रहने दो, आज लबों को ना खोलो बस आँखों को कहने दो।

इश्क़ के चाँद को अपनी पनाह में रहने दो, आज लबों को ना खोलो बस आँखों को कहने दो।

भूरी सी आँख की सफेद सी पुतली है, फूल से चाँद पर बादलों की तितली है।

भूरी सी आँख की सफेद सी पुतली है, फूल से चाँद पर बादलों की तितली है।

तेरी आँखों के जादू से, तू ख़ुद नहीं है वाकिफ़,  ये उसे भी जीना सिखा देती हैं,  जिसे मरने का शौक़ हो।

तेरी आँखों के जादू से, तू ख़ुद नहीं है वाकिफ़, ये उसे भी जीना सिखा देती हैं, जिसे मरने का शौक़ हो।

आपकी आँखें उठी तो दुआ बन गई, आपकी आँखें झुकी तो अदा बन गई, झुक कर उठी तो हया बन गई, उठ कर झुकी तो सदा बन गई।

आपकी आँखें उठी तो दुआ बन गई, आपकी आँखें झुकी तो अदा बन गई, झुक कर उठी तो हया बन गई, उठ कर झुकी तो सदा बन गई।

क्या हुआ जो हम किसी के दिल में नहीं धड़कते, आँखों में तो कईयों की खटकते है।

क्या हुआ जो हम किसी के दिल में नहीं धड़कते, आँखों में तो कईयों की खटकते है।

मुकम्मल इश्क़ की तलबगार नहीं है आंखे, थोड़ा थोड़ा ही सही रोज तेरे दीदार की चाहत है।

मुकम्मल इश्क़ की तलबगार नहीं है आंखे, थोड़ा थोड़ा ही सही रोज तेरे दीदार की चाहत है।

पानी में तैरना सीख ले मेरे दोस्त, आँखों में डूबने वालों का अंजाम बुरा होता है।

पानी में तैरना सीख ले मेरे दोस्त, आँखों में डूबने वालों का अंजाम बुरा होता है।

नशीली आँखों से वो जब हमें देखते हैं, हम घबराकर ऑंखें झुका लेते हैं, कौन मिलाए उनकी आँखों से ऑंखें, सुना है वो आँखों से अपना बना लेते है।

नशीली आँखों से वो जब हमें देखते हैं, हम घबराकर ऑंखें झुका लेते हैं, कौन मिलाए उनकी आँखों से ऑंखें, सुना है वो आँखों से अपना बना लेते है।

मैं उम्र भर जिनका न कोई दे सका जवाब,  वह इक नजर में, इतने सवालात कर गये।

मैं उम्र भर जिनका न कोई दे सका जवाब, वह इक नजर में, इतने सवालात कर गये।

जब बिखरेगा तेरी गालों पे तेरी आँखों का पानी, तब तुझे एहसास होगा की मोहब्बत किसे कहते है।

जब बिखरेगा तेरी गालों पे तेरी आँखों का पानी, तब तुझे एहसास होगा की मोहब्बत किसे कहते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here