सागर से गहरी हैं आपकी आँखें, दिल की खुशी है आपकी आँखें, प्यार का जाम हैं आपकी आँखें, छुपाए कई राज़ हैं आपकी आँखें, ले लेंगी मेरी जान आपकी आँखें।

सागर से गहरी हैं आपकी आँखें, दिल की खुशी है आपकी आँखें, प्यार का जाम हैं आपकी आँखें, छुपाए कई राज़ हैं आपकी आँखें, ले लेंगी मेरी जान आपकी आँखें।

मेरी ‪आँखों में ‪झाँक के तो ‪देख ‎पगली कैसे कैसे ‎प्लान बना के ‪बैठा हूँ तुझे ‎पाने के लिए।

मेरी ‪आँखों में ‪झाँक के तो ‪देख ‎पगली कैसे कैसे ‎प्लान बना के ‪बैठा हूँ तुझे ‎पाने के लिए।

अबकी बार तुम मिले तो पलके बंद ही रखेंगे,  ये बातूनी आंखें मुंह को कुछ बोलने नहीं देती।

अबकी बार तुम मिले तो पलके बंद ही रखेंगे, ये बातूनी आंखें मुंह को कुछ बोलने नहीं देती।

हसीन आँखों को पढ़ने का अभी तक शौक है मुझको, मुहब्बत में उजड़ कर भी मेरी ये आदत नहीं बदली।

हसीन आँखों को पढ़ने का अभी तक शौक है मुझको, मुहब्बत में उजड़ कर भी मेरी ये आदत नहीं बदली।

तेरी आँखों से छलकी हुई, जो भी एक बार पी ले अगर फिर वो मयख्वार ए साकिया, जाम ही मांगना छोड़ दे।

तेरी आँखों से छलकी हुई, जो भी एक बार पी ले अगर फिर वो मयख्वार ए साकिया, जाम ही मांगना छोड़ दे।

एक-सी शोखी खुदा ने दी है हुस्नो -इश्क को, फर्क बस इतना है कि वो आंखों में है, ये दिल में हैं।

एक-सी शोखी खुदा ने दी है हुस्नो -इश्क को, फर्क बस इतना है कि वो आंखों में है, ये दिल में हैं।

अब तो उसे से मिलना और भी ज़रूरी हो गया है, सुना है उसकी आँखों मैं मेरा अक्स नज़र आता है।

अब तो उसे से मिलना और भी ज़रूरी हो गया है, सुना है उसकी आँखों मैं मेरा अक्स नज़र आता है।

शायरी उन्ही के लबों पर सजती है, जिनकी आँखों में इश्क़ होता है ।

शायरी उन्ही के लबों पर सजती है, जिनकी आँखों में इश्क़ होता है ।

जो उनकी आँखों से बयां होते हैं,  वो लफ्ज़ शायरी में कहाँ होते हैं।

जो उनकी आँखों से बयां होते हैं, वो लफ्ज़ शायरी में कहाँ होते हैं।

तेरी आँखों की कशिश भी खींचती है इस कदर, ये दिल सिर्फ बहलता नहीं बहक जाने की जिद करता है।

तेरी आँखों की कशिश भी खींचती है इस कदर, ये दिल सिर्फ बहलता नहीं बहक जाने की जिद करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here